टिहरी

टिहरी के आगराखाल पहुंचे पूर्व सीएम हरीश रावत का यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में बड़ा बयान

टिहरी के आगराखाल पहुंचे पूर्व सीएम हरीश रावत का यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में बड़ा बयान

टिहरी आगराखाल पहुंचे प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग पेपर लीक मामले को बड़ा घोटाला बताया और इसकी उच्च स्तरीय जांच की मांग की। उन्होंने कहा कि यह युवाओं के साथ छलावा है।

ऐसे में सरकार को घोटाले में आरोपितों के खिलाफ दंडनीय कार्यवाही करनी चाहिए।
आज आगराखाल में नरेंद्रनगर के पूर्व ब्लॉक प्रमुख वीरेंद्र सिंह कंडारी के आवास पर उनकी स्वर्गीय मां के तेरहवीं कार्यक्रम में पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग पेपर लीक मामले में जो भी दोषी हैं,उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही होनी चाहिये। भर्ती में घोटाला एक गंभीर अपराध है। इससे तैयारी करने वाले नौजवानों का मनोबल टूटता है और उनका विश्वास व्यवस्था से उठ जाता है। अगर युवा रूपये देकर नौकरी लगेंगे तो वे ईमानदारी से अपना काम नहीं कर पायेंगे और उनका नौकरी के दौरान पूरा ध्यान वसूली पर होगा। भर्ती में रूपयों के चलन से ही पूरी व्यवस्था भ्रष्ट होती है और इससे पूरा सिस्टम ही भ्रष्टाचार की चपेट में आ जाता है। इस तरह के घोटालों से भ्रष्टाचार को भी बढ़ावा मिलता है। ऐसे में सरकार को इस मामले में गंभीरता से जांच कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करनी चाहिये। ताकि भविष्य में कोई भी ऐसी घटनाओं को अंजाम देने का साहस न कर सके।
इस दौरान पूर्व ब्लाक प्रमुख वीरेंद्र सिंह कंडारी, पूर्व पालिका अध्यक्ष मनोज द्विवेदी, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जगमोहन सिंह भंडारी,व्यापार उद्योग मंडल टिहरी जिले के अध्यक्ष सुरेंद्र कंडारी,रामविलास पासवान, पूर्व पालिका अध्यक्ष राजेंद्र सिंह राणा आदि उपस्थित थे।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close